कृषि निर्यात में लगातार पिछड़ रहा है भारत, करोड़ों डॉलर का हुआ नुकसान

by Rahul Gautam 1 year ago Views 1680

India is consistently lagging behind in agricultur
भारत में कृषि पर 58 फीसदी लोग निर्भर है और 44 फीसदी इससे अपनी रोजी-रोटी चलाते है। देश बड़ी तादाद में कृषि उत्पादो को निर्यात करके विदेशी मुद्रा भंडार को भी मजबूत करता है। 2015-16 के सरकारी आंकड़ों के अनुसार कृषि उत्पादो की कुल निर्यात में लगभग 12. 5 फीसदी हिस्सेदारी है और फूल, मछली, बासमती और गैर-बासमती चावल, भैंस का मांस, मसाले और कपास भारत के कृषि निर्यात के शीर्ष वस्तु है।

लेकिन पिछले कुछ सालों से भारत कृषि उत्पादों के निर्यात में लगातार पिछड़ रहा है। मसलन जहा देश 2017-18 में 35 हज़ार 166 मीट्रिक टन फूल का निर्यात करता था, वो साल 2019-20 आते आते रह गया 31 हज़ार 745 मीट्रिक टन रह गया। ज़ाहिर है इससे देश की माली हालत पर भी असर पड़ा। 2017-18 में जहा मुल्क ने 182.76 मिलियन डॉलर फूल निर्यात कर कमाए, वो साल 2019-20 में घटकर 177.41 मिलियन डॉलर रह गया।


इसी तरह ताज़ा फल-सब्जिया के निर्यात में गिरावट देखी गयी है। साल 2017-18 में जहा 28 लाख 99 हज़ार 525 मीट्रिक टन फल-सब्जिया देश से बाहर गयी, वही ये आंकड़ा 2019-20 में  26 लाख 55 हज़ार 587 मीट्रिक टन रह गया। इससे होने वाली आमदनी भी 1385 मिलियन डॉलर से घटकर 1277 मिलियन डॉलर रह गयी।

बात करे मांस और डेरी प्रोडक्ट्स के निर्यात की तो उसमे भी भारत पिछड़ रहा है। 2017-18 में जहा 19 लाख 44 हज़ार 514 मीट्रिक टन मांस, डेरी प्रोडक्ट्स और शहद जैसी चीज़ो का एक्सपोर्ट हुआ, वही साल 2020 आते आते घटकर रह गया 16 लाख 45 हज़ार 386. 63 मीट्रिक टन। आमदनी भी 4623 मिलियन डॉलर से घटकर आ गयी 3694 मिलियन डॉलर।

इसके अलावा अनाज के मामले में भी यही हाल है। साल 2017-18 में जहा भारत 1 करोड़ 38 लाख 91 हज़ार 169 मीट्रिक टन बासमती चावल, गेहू, मक्का और अन्य अनाज का निर्यात करता था, वो 2019-20 में आंकड़ा घटकर रह गया 1 करोड़ 2 लाख 14 हज़ार 201 मीट्रिक टन। इससे भारत को तगड़ा नुक्सान हुआ और आमदनी 8078 मिलियन डॉलर से घटकर 6611 मिलियन डॉलर रह गयी।

बता दे, ये आकड़े मार्च 31 2020 तक के है जब देश में लॉकडाउन नहीं लगाया था। आसान भाषा में कहे तो कृषि उत्पादों पर भी पहले चल रही मंदी का असर है हालांकि देश में पैदावार हर साल नए रिकॉर्ड तोड़ रही है।

ताज़ा वीडियो