ads

शेयर बाज़ार में रिलायंस के 1.25 लाख करोड़ कैसे हुए स्वाहा ?

by Rahul Gautam 6 months ago Views 7005

How did Reliance lost 1.25 lakh crore in the stock
देश के सबसे ज्यादा मार्केट कैप रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के शेयर की कीमत सोमवार को 8 फीसदी तक घट गई जिससे उसकी बाज़ार पूंजी में 1.23 लाख करोड़ रुपये की गिरावट आई। इसी पैसे में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के मालिक मुकेश के 59 हज़ार 100 करोड़ रुपए भी शामिल है।

इस ज़बरदस्त गिरावट से रिलायंस का बाज़ार में लगा कुल पैसा एक झटके में 14.37 लाख करोड़ रुपये से 13.14 लाख करोड़ पर आ गया। बता दें, अभी हाल में ही रिलायंस इंडस्ट्रीज़ पहली ऐसी भारतीय कंपनी बनी थी जिसने 200 अरब डॉलर के मार्केट कैप के आंकड़े को छुआ. सवाल उठता है आखिर ऐसा हुआ क्या की निवेशकों के सवा लाख करोड़ रुपए स्वाहा हो गए।


इसका जवाब है रिलायंस के चालू वित्त वर्ष के दूसरी तिमाही के कमज़ोर नतीजे। दरअसल, सितंबर तिमाही में रिलायंस का प्रॉफिट 15 प्रतिशत घटकर 9,567 करोड़ रुपये रहा। इसके पीछे कारण रहे रिलायंस के पेट्रोकेमिकल और रिटेल बिज़नेस के मुनाफे का घटना।

बता दें, क्यूंकि रिफाइनिंग मार्जिन में 5.7 डॉलर प्रति बैरल की गिरावट दर्ज़ हुई और कोरोना महामारी और तालाबंदी के चलते लोगो ने कम खरीदारी करी, इन दोनों कारणों के चलते कंपनी का मुनाफा घटा जिससे निवेशकों में डर का माहौल बना, तेज़ बिकवाली दर्ज़ हुई और कंपनी के शेयर औंधे मुँह गिर पड़े।

ध्यान रहे, अगर रिलायंस जिओ अपने मुनाफे में 187 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज़ कर 2,844 करोड़ रुपये का आंकड़ा नहीं छूता तो रिलायंस इंडस्ट्रीज़ का मुनाफा और नीचे जाता।

तो क्या सोमवार को रिलायंस के शेयर में दर्ज़ हुई ज़बरदस्त गिरावट, कंपनी के सुनहरे दौर के खात्मे की और इशारा करती है?

कई बड़े फाइनेंसियल इंस्टीट्यूट और ब्रोकरेज फर्म ऐसा नहीं मानते। बाज़ार के जानकारों के मुताबिक क्यूंकि दुनियाभर में पेट्रोकेमिकल की मांग कम उड़ानों और धीमी हुई आर्थिक गतिविधियों के चलते घटी है, लेकिन ये सिर्फ एक टेम्पररी फेज है।

इसके अलावा टेलिकॉम बिजनेस में नए सब्सक्राइबर जोड़ने का काम भी धीमा हो गया है। साथ ही क्यूंकि जिओ के ज्यादातर सौदे हो चुके हैं इसके चलते शेयर की कीमतों में उछाल आने के लिए कोई नया ट्रिगर नहीं है।

ताज़ा वीडियो