1.12 लाख करोड़ रूपये रहा अगस्त महीने में जीएसटी कलेक्शन, जुलाई से 4 फीसदी कम

by GoNews Desk 8 months ago Views 2781

GST collection in the month of August stood at Rs
कोरोना वायरस संक्रमण के हालात में सुधार और देश में आर्थिक गतिविधियां शुरू होने के बावजूद अगस्त महीने में जीएसटी कलेक्शन में गिरावट देखी गई है। वित्त मंत्रालय ने बताया है कि अगस्त महीने में 1.12 लाख करोड़ रूपये का जीएसटी कलेक्ट हुआ है। अगर हम आंकड़े देखें तो मौजूदा जीएसटी कलेक्शन पिछले महीने के मुक़ाबले करीब 4 फीसदी कम है।

ऐसे तो वित्त मंत्रालय ने बताया है कि पिछले साल समान अवधि के मुक़ाबले जीएसटी कलेक्शन 14 फीसदी ज़्यादा है लेकिन दो साल बाद भी यह जीएसटी कलेक्शन निराश करने वाला है। मसलन अगर हम वित्त वर्ष 2019-20 में अगस्त महीने की बात करें तब वित्त मंत्रालय को 98 हज़ार करोड़ रूपये का जीएसटी कलेक्शन हुआ था।


चालू वित्त वर्ष के जून महीने में जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रूपये से नीचे चला गया था। यह गिरावट अपने आठ महीने के निचले स्तर पर रहा था। इसी तरह अगर हम कोरोना से पहले जीएसटी कलेक्शन की बात करें तो जून 2019 में जीएसटी कलेक्शन 99 हज़ार करोड़ रूपये रहा था।

जबकि चालू वित्त वर्ष के जून महीने में जीएसटी कलेक्शन 92 हज़ार करोड़ रूपये पर रहा था। इसका मतलब है कि जीएसी कलेक्शन कमोबेश कोरोना महामारी के पूर्व स्तर पर ही है।

दूसरी तरफ यह दावा किया जा रहा है कि देश की जीडीपी में भारी उछाल आया है। मसलन पिछले दिनों जारी आंकड़ों के मुताबिक़ देश की जीडीपी चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 20.1 फीसदी बढ़ा है। हालंकि पिछले साल महामारी के दौरान पहली तिमाही में देश की जीडीपी में 24 फीसदी से ज़्यादा की गिरावट देखी गई थी। 20 फ़ीसदी के उछाल का भी मतलब यही है कि अभी यह पुराने स्तर से भी कुछ नीचे ही है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पिछले साल अप्रैल से जून के बीच देश की जीडीपी 26.95 लाख करोड़ रुपए थी जो इस साल अप्रैल से जून की तिमाही में 20 फीसदी बढ़कर 32.38 लाख करोड़ हो गई।

यहाँ यह बात जानना बेहद ज़रूरी है कि पिछले साल इस तिमाही की जीडीपी उसके पिछले साल के मुक़ाबले 24.4 फीसदी कम थी। यानी 2019 में अप्रैल से जून के बीच भारत की जीडीपी थी 35.85 लाख करोड़ रुपए। इन तीनों आँकड़ों को साथ रखकर देखें तब तस्वीर साफ़ होती है कि अभी देश की अर्थव्यवस्था वहाँ भी नहीं पहुँच पाई है, जहाँ अब से दो साल पहले थी।

ताज़ा वीडियो