ads

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश के पत्रकारों को टीकाकरण में दी जाएगी प्राथमिकता

Views 1648

उत्तर प्रदेश से पहले ओडिशा, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु जैसे राज्य भी पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा दे चुके हैं.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश के पत्रकारों को टीकाकरण में दी जाएगी प्राथमिकता

उत्तर प्रदेश कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक बन गया है. इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य के पत्रकारों को फ्रंलाइन वर्कर्स की सूची में शामिल कर लिया गया है. अब पत्रकारों और उनके परिवार वालो कों कोरोना के खिलाफ टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाएगी. 

सीएम के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया, “सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि COVID-19 टीकाकरण में मीडिया प्रोफेशनल्स को प्राथमिकता दी जानी चाहिए, उनके लिए अलग से केंद्र बनाए जाने चाहिए और 18 वर्ष से अधिक आयु के उनके परिवार के सदस्यों को भी मुफ्त में टीका दिया जाना चाहिए.”

उत्तर प्रदेश से पहले ओडिशा, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु जैसे राज्य भी पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स का दर्जा दे चुके हैं. ओडिशा की सरकार ने राज्य के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को 2 लाख के बीमा कवर और ड्यूटी के दौरान कोविड से मौत होंने पर 15 लाख के मुआवज़े का एलान किया है. एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी राज्य के पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की लिस्ट में शामिल कर लिया है.

डीएमके के प्रमुख एमके स्टालिन ने भी एलान किया है कि तमिलनाडु में जर्नलिस्ट्स को फ्रंटलाइन वर्कर्स माना जाएगा. स्टालिन अगले महीने तमिलनाडु के सीएम पद की शपथ लेंगे.
 

ताज़ा वीडियो