भारत में सोने का आयात एफडीआई और एफपीआई से ज्यादा, एक ऐतिहासिक उंचाई पर

Views 1362

भारत में सोने का आयात एफडीआई और एफपीआई से ज्यादा, एक ऐतिहासिक उंचाई पर

भारत ने पिछले साल एफपीआई द्वारा अपने शेयर बाजारों में फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (एफडीआई) की तुलना में ज़्यादा सोना खरीदा है।

भारत ने 2021 में सोने के आयात पर रिकॉर्ड 55.7 बिलियन डॉलर खर्च किए जो पिछले साल की तुलना में दोगुने से ज़्यादा है। इसकी वजह यह है कि सोने की कीमतें गिरी है और ख़ुदरा ख़रीदारों ने भारी मात्रा में सोने की खरीदारी की है। 

एक अन्य कारण वर्ष 2020 से मांग में कमी थी, जब पहली बार महामारी की चपेट में आने पर शादियों में देरी हुई थी। तुलनात्मक रूप से एफडीआई सिर्फ 52.55 अरब डॉलर थे और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक शुद्ध निवेश के रूप में सिर्फ 7.07 अरब डॉलर लाए।

आरबीआई द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक़, 2021 के गोल्ड आयात बिल ने 2020 में खर्च किए गए 22 बिलियन डॉलर को आसानी से दोगुना कर दिया, और यही वजह है कि 2011 में 53.9 बिलियन डॉलर के पिछले उच्च स्तर को पार कर गया।

भारत ने 2021 में 1,050 टन सोना आयात किया, जो एक दशक में सबसे ज़्यादा है, और 2020 में आयात किए गए 430 टन से कहीं ज़्यादा है। 2021 में सिर्फ चीन ने भारत से ज़्यादा सोना खरीदा क्योंकि सरकार द्वारा उनके शेयर बाजार को प्रतिबंधित कर दिया गया था जिससे लोगों ने सोने में निवेश करना पसंद किया।

ताज़ा वीडियो