गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई पर राहुल गांधी और सीएम योगी के बीच वार पलटवार

Views 2504

पुलिस ने इस मामले में सांप्रदायिक पहलु से इंकार कर दिया है. उनका कहना है कि सूफी अब्दुल समद की पिटाई करने वाले छह लोगों में हिंदु और मुस्लमान दोनों शामिल है

गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई पर राहुल गांधी और सीएम योगी के बीच वार पलटवार

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई को लेकर कांग्रेस के राहुल गांधी और सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच वार पलटवार का सिलसिला शुरू हो गया है. कांग्रेस नेता ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए कहा था कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा नहीं कर सकते जिस पर निशाना साधते हुए सीएम योगी ने कहा कि श्रीराम की पहली सीख सच बोलना है और राहुल गांधी ने कभी सच नहीं बोला है. 

दऱअसल ये मामले एक मुस्लमिव व्यक्ति की पिटाई का है. गाजियाबाद में एक मुस्लमि बुजुर्ग की पिटाई करने और उनकी दाढ़ी काटने के अपराध में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पीड़ित व्यक्ति का दावा है कि उनकी पिटाई करने वाले लोगों ने उनसे 'जय श्रीराम' के नारे लगवाए थे. इस पर ट्वीट करते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "मैं ये मानने को तैयार नहीं हूँ कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा कर सकते हैं. ऐसी क्रूरता मानवता से कोसों दूर है और समाज व धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है."

वहीं पुलिस ने इस मामले में सांप्रदायिक पहलु से इंकार कर दिया है. उनका कहना है कि सूफी अब्दुल समद की पिटाई करने वाले छह लोगों में हिंदु और मुस्लमान दोनों शामिल है जो उनके बेचे गए ताविज़ से नाखुश थे.

इस पर सीएम योगी ने राहुल गांधी के ट्वीट पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट में लिखा, "प्रभु श्री राम की पहली सीख है-"सत्य बोलना" जो आपने कभी जीवन में किया नहीं. शर्म आनी चाहिए कि पुलिस द्वारा सच्चाई बताने के बाद भी आप समाज में जहर फैलाने में लगे हैं. सत्ता के लालच में मानवता को शर्मसार कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश की जनता को अपमानित करना, उन्हें बदनाम करना छोड़ दें."

बता दें कि बुजुर्ग से मारपीट के मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने कहा कि गिरफ्तार युवकों की पहचान कल्लू और आदिल के रूप में हुई है. इलके अलावा पॉली, आरिफ, मुशाहिद और परवेश गुर्जर नाम के लोगों को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया है. 
 

ताज़ा वीडियो