ads

आर्मी के जवानों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली असम की जानी मानी लेखक और कार्यकर्ता गिरफ्तार

Views 2030

सिखा शर्मा ने कथित तौर पर एक फेसबुक पोस्ट में छत्तीसगढ़ के नक्सल अटैक में मारे गए 22 जवानों को लेकर आपत्तिजनक टिप्प्णी की थी और इन जवानों को ‘शहीद’ न कहने के लिए कहा था.

आर्मी के जवानों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली असम की जानी मानी लेखक और कार्यकर्ता गिरफ्तार

असम की जानी मानी लेखक और कार्यकर्ता सिखा शर्मा को दिसपुर पुलिस ने उनके सेना के जवानों पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर हिरासत में ले लिया है. एक मीडिया रिपोर्ट की जानकारी के अनुसार सिखा को गुवाहाटी के उनके घर से गिरफ्तार किया गया है और बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा. 

सिखा शर्मा ने कथित तौर पर एक फेसबुक पोस्ट में छत्तीसगढ़ के नक्सल अटैक में मारे गए 22 जवानों को लेकर आपत्तिजनक टिप्प्णी की थी और इन जवानों को ‘शहीद’ न कहने के लिए कहा था. इस टिप्पणी के लिए उनके खिलाफ गुवाहाटी हाईकोर्ट की दो वकीलों उर्मी देका और कोंगोना गोस्वामी ने दिसपुर स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई थी. गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर मुन्ना प्रसाद गुप्ता ने बताया कि गुवाहाटी के रहने वाली लेखक को राजद्रोह की धारा आईपीसी 124ए के समेत कई धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा, ‘कल उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा.’  

शनिवार को छत्तीसगढ़ में एक नक्सल अटैक में पुलिस और सीआरपीएफ के 22 जवान मारे गए हैं और 31 जवान घायल हुए हैं. अभी एक जवान के लापता होने की खबर है. जवानों की मौत ने देश को झटका दिया है. सोशल मीडिया पर मारे गए जवानों को श्रद्धांजलि दी जा रही है. असम कार्यकर्ता ने भी जवानों से जुड़ी एक फेसबुक पोस्ट लिखी जिसमें उन्होंने कथित तौर पर जवानों को शहीदों का दर्जा न देने के लिए कहा. उन्होंने इस पोस्ट में लिखा था, ‘वेतन पाने वाले अधिकारी जो ड्यूटी के दौरान मारे गए हैं उन्हें शहीद नहीं कहा जा सकता.’ सिखा ने कहा कि इस तर्क के हिसाब से बिजली दफ्तर में काम करने वाले लोग जो काम काम के दौरान मारे जाते हैं उन्हें भी शहीदों का दर्जा दिया जाना चाहिए. सिखा ने कहा था कि मीडिया को लोगों को भावुक नहीं करना चाहिए. 

  

ताज़ा वीडियो