अमर जवान ज्योति की आग बुझाई नहीं जाएगी, मर्ज की जाएगी: केन्द्र

Public on: 21-Jan-2022 Views 426

अमर जवान ज्योति की आग बुझाई नहीं जाएगी, मर्ज की जाएगी: केन्द्र

इंडिया गेट पर सैनिकों के लिए अमर जवान ज्योति या "शाश्वत लौ" 50 साल बाद बुझाई जाएगी और आज एक समारोह में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में मशाल के साथ शामिल हो जाएगी। आज दोपहर ज्वाला के एक हिस्से को युद्ध स्मारक तक ले जाया जाएगा।

इस कदम की तीखी आलोचना के बीच, सरकार ने कहा कि "बहुत सारी ग़लत सूचना" प्रसारित हो रही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ केन्द्र ने कहा, "अमर जवान ज्योति की लौ बुझ नहीं रही है। इसे राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की लौ में मिलाया जा रहा है। यह देखना अजीब था कि अमर जवान ज्योति की ज्योति ने 1971 और अन्य युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि दी लेकिन उनमें से कोई भी नाम वहां मौजूद नहीं है।"

इंडिया गेट को प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए ब्रिटिश भारतीय सेना के सैनिकों की याद में अंग्रेजों ने बनवाया था। अमर जवान ज्योति को 1971 में इंडिया गेट के नीचे रखा गया था, जब इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार सत्ता में थी।

सरकार ने इसे "हमारे औपनिवेशिक अतीत का प्रतीक" बताते हुए कहा, इंडिया गेट पर दर्ज नाम वे हैं जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध और एंग्लो अफगान युद्ध में अंग्रेजों के लिए लड़ाई लड़ी।

ताज़ा वीडियो